कबड्डी पर निबंध

प्रस्तावना: देश का सबसे पुराना और प्रसिद्ध खेल है कबड्डी। देश के कई भागो , विद्यालय और अन्य शिक्षा संस्थानों में कबड्डी का खेल खेला जाता है। यह खेल बाहर …

पूरा पढ़ें »

बाल मजदूरी पर निबंध

बाल मजदूरी पर निबंध

प्रस्तावना: आजादी के इतने वर्षो बाद भी बाल मज़दूरी हमारे देश के लिए एक अभिशाप बना हुआ है। देश के साक्षरता दर में काफी उन्नति हुयी है।  लेकिन गरीबी और …

पूरा पढ़ें »

नागरिक के कर्त्तव्य पर निबंध

नागरिक के कर्त्तव्य पर निबंध 1

अच्छे जीवन की ज़रूरत के लिए देश के नागरिको को कुछ अधिकार दिए गए है।  जहां अधिकार होते है, वहाँ कुछ ज़िम्मेदारियाँ भी होती है। मौलिक अधिकारों की रक्षा के …

पूरा पढ़ें »

विद्यार्थी जीवन में चुनौतियां निबंध

विद्यार्थी जीवन में चुनौतियां निबंध

विद्यार्थियों का जीवन चुनौतियों से भरा हुआ होता है।  वह शिक्षा प्राप्त करते है और परीक्षाओ में उत्तीर्ण होना पड़ता है।  कई सारे विषयो की पढ़ाई के साथ विद्यालय के …

पूरा पढ़ें »

जैसा खाए अन्न , वैसा बने मन निबंध

जैसा खाए अन्न, वैसा बने मन निबंध

प्रस्तावना: भोजन सभी के ज़िन्दगी में महत्वपूर्ण है। भोजन का सेवन करने से हमे कार्य करने की क्षमता मिलती है। जैसा हम खाना खाते है उसका असर हमारे मन और …

पूरा पढ़ें »

मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना

यह पंक्तियाँ  है कवि  अलामा इकबाल की है। वे उर्दू के लोकप्रिय शायर थे। देश प्रेम की भावना से कूट कूट कर भरी है यह पंक्तियाँ। इन पंक्तियों ने देशवासियों …

पूरा पढ़ें »

चलचित्र से लाभ और हानियाँ

प्रस्तावना चलचित्र का तात्पर्य है चलता फिरता चित्र।  चलचित्र एक ऐसा मनोरंजन से भरा हुआ माध्यम है जिसे हर कोई पसंद करता है। इसमें ध्वनि और प्रकाश दोनों का समावेश …

पूरा पढ़ें »

कैंसर पर निबंध

प्रस्तावना आजकल लोग कई तरह की बीमारियों से पीड़ित होते है लेकिन अच्छे चिकित्सा और देखभाल के कारण ठीक भी हो जाते है। कैंसर सभी बीमारियों में से भयानक और …

पूरा पढ़ें »

पक्षी की आत्मकथा

पक्षियों की जिन्दगी इतनी सरल नहीं होती है। आजादी सभी का जन्मसिद्ध अधिकार है। मैं एक पिंजरे में बंद तोता हूँ।  सभी  पक्षियों की तरह मैं भी स्वतंत्र होकर खुले …

पूरा पढ़ें »

अभिमान विनाश का कारण है

प्रस्तावना अहंकार मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु है।  अहंकार आज की प्रवृति नहीं है बल्कि मनुष्यो में यह प्रवृति बरसो पुरानी है। पुराने समय से बहुत लोगो ने अपने रूप …

पूरा पढ़ें »

बैंक पर निबंध

Bank par nibandh

बैंक पर निबंध-Bank par nibandh प्रस्तावना: बैंक ना हो तो देश की आर्थिक व्यवस्था इधर उधर हो जायेगी। बैंक एक ऐसा सुरक्षित  संस्थान है जहां लोग विश्वास के साथ अपने …

पूरा पढ़ें »