तुलसीदास पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना गोस्वामी तुलसीदास हिंदी साहित्यिक दुनिया के महान कवि थे। जिनकी कविताएं सौ वर्षों के बाद भी जनमानस का मार्गदर्शन कर रही है। तुलसीदास जी का पूरा नाम गोस्वामी तुलसीदास …

पूरा पढ़ें »

फिट इंडिया मूवमेंट पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना स्वास्थ्य मानव जीवन का सबसे बड़ा धन है। यदि व्यक्ति स्वस्थ नहीं है तो वह न तो परिवार, न समाज और न ही राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दे …

पूरा पढ़ें »

भारतीय राष्ट्रीय ध्वज पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना भारतीय राष्ट्रीय ध्वज भारत के लोगों की स्वतंत्रता का प्रतीक है। यह प्रत्येक भारतीय व्यक्ति के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण महत्व रखता है। भारत का राष्ट्रीय ध्वज भारत के संप्रभुता, …

पूरा पढ़ें »

गुरु तेग बहादुर पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना हमारे देश की भारतीय संस्कृति महान है। इस देश के इतिहास-पुरुषों ने ‘ग्रहण’ के बजाय ‘त्याग’ का मार्ग अपनाया। नानक हों या गुरु गोबिंद सिंह, भगत सिंह हों या …

पूरा पढ़ें »

विक्रम बत्रा के जीवन पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रारंभिक परिचय कैप्टन विक्रम बत्रा का जन्म 9 सितंबर, 1974 को पालमपुर, हिमाचल प्रदेश में हुआ था। इनके पिता का नाम गिरधारी लाल बत्रा था और माता का नाम कमल …

पूरा पढ़ें »

संविधान दिवस पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना भारत का संविधान 26 नवंबर 1949 को अस्तित्व में आया और लगभग 66 वर्षों के बाद इसे अपनाने के दिन को मनाने का निर्णय लिया गया। भारत के प्रधानमंत्री …

पूरा पढ़ें »

पंडित जवाहरलाल नेहरू पर निबंध (50 लाइनों में)

दहेज प्रथा पर निबंध

हमारे देश को ब्रिटिश साम्राज्य से आजाद कराने में कई महत्वपूर्ण क्रांतिकारी नेताओं की भूमिका रही है। इन्हीं नेताओं में से एक है पंडित जवाहरलाल नेहरू। पंडित जवाहरलाल नेहरू भारत …

पूरा पढ़ें »

कल्पना चावला पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना अंतरिक्ष में यात्रा करने वाली भारत की पहली महिला का नाम कल्पना चावला था। जो कि एक वैमानिकी इंजीनियर थीं। कल्पना चावला एरोनॉटिक्स के क्षेत्र में भारतीयों के लिए …

पूरा पढ़ें »

मादक पदार्थों की लत पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना मादक पदार्थों की लत पूरी दुनिया में चिंता का एक प्रमुख कारण बन गया है। यह एक विनाशकारी स्थिति है जो किसी भी देश की प्रगति को रोकती है …

पूरा पढ़ें »

लचित बोरफुकन पर निबंध

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना लचित बोरफुकन भारत के एक महान नेता थे। जिन्होंने मुगलों के खिलाफ जमकर लड़ाई लड़ी थी। मुगलों को असम राज्य से बाहर निकालने और असम राज्य के लोगों की …

पूरा पढ़ें »

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर निबंध (16 नवंबर)

दहेज प्रथा पर निबंध

प्रस्तावना हमारे देश में हर वर्ष देशभर के पत्रकारों और भारतीय प्रेस परिषद को सम्मान देने के लिए राष्ट्रीय प्रेस दिवस मनाया जाता है। इस राष्ट्रीय प्रेस दिवस को भारतीय …

पूरा पढ़ें »