बाल मजदूरी पर निबंध

बाल मजदूरी पर निबंध

प्रस्तावना: आजादी के इतने वर्षो बाद भी बाल मज़दूरी हमारे देश के लिए एक अभिशाप बना हुआ है। देश के साक्षरता दर में काफी उन्नति हुयी है।  लेकिन गरीबी और …

पूरा पढ़ें »

नागरिक के कर्त्तव्य पर निबंध

नागरिक के कर्त्तव्य पर निबंध 1

अच्छे जीवन की ज़रूरत के लिए देश के नागरिको को कुछ अधिकार दिए गए है।  जहां अधिकार होते है, वहाँ कुछ ज़िम्मेदारियाँ भी होती है। मौलिक अधिकारों की रक्षा के …

पूरा पढ़ें »

विद्यार्थी जीवन में चुनौतियां निबंध

विद्यार्थी जीवन में चुनौतियां निबंध

विद्यार्थियों का जीवन चुनौतियों से भरा हुआ होता है।  वह शिक्षा प्राप्त करते है और परीक्षाओ में उत्तीर्ण होना पड़ता है।  कई सारे विषयो की पढ़ाई के साथ विद्यालय के …

पूरा पढ़ें »

जैसा खाए अन्न , वैसा बने मन निबंध

जैसा खाए अन्न, वैसा बने मन निबंध

प्रस्तावना: भोजन सभी के ज़िन्दगी में महत्वपूर्ण है। भोजन का सेवन करने से हमे कार्य करने की क्षमता मिलती है। जैसा हम खाना खाते है उसका असर हमारे मन और …

पूरा पढ़ें »

बैंक पर निबंध

Bank par nibandh

बैंक पर निबंध-Bank par nibandh प्रस्तावना: बैंक ना हो तो देश की आर्थिक व्यवस्था इधर उधर हो जायेगी। बैंक एक ऐसा सुरक्षित  संस्थान है जहां लोग विश्वास के साथ अपने …

पूरा पढ़ें »

गरीबी का शिक्षा पर प्रभाव निबंध

naitik patan ke dusprabhav

गरीबी का शिक्षा पर प्रभाव निबंध- Essay on Effect of Poverty on Education प्रस्तावना: देश में साक्षरता दर और अधिक बढ़नी चाहिए। मगर इसके आगे कई समस्याएं है।  उनमे से …

पूरा पढ़ें »

मित्र की आवश्यकता पर निबंध

मित्र की आवश्यकता पर निबंध

मित्र की आवश्यकता पर निबंध जिन्दगी में एक योग्य और सच्चे मित्र की आवश्यकता सभी  को होती है। सच्चा दोस्त हमें कभी मुश्किलों में अकेला नहीं छोड़ता है। वह लोग …

पूरा पढ़ें »

धनतेरस पर निबंध

dhanteras par nibandh

धनतेरस पर निबंध 400-500 words प्रस्तावना :- धनतेरस का त्योहार हिन्दूओ के प्रसिद्ध त्योहार मे से एक है। इस त्योहार के साथ दिवाली के पांच दिन के त्योहारो का प्रारंभ …

पूरा पढ़ें »