पर्यटन का महत्व

पर्यटन का तात्पर्य है , घूमना -फिरना। घूमने फिरने से हर स्थान , लोगो के रहन- सहन , बोल चाल , लोगो की सोच इत्यादि का पता चलता है। लोग दैनिक जीवन में परिश्रम करते है और दफ्तर से घर के चक्कर में  समय बीत जाता है। जब व्यक्ति कुछ दिनों की छुट्टी लेकर अपने परिवार और  दोस्तों के साथ  घूमने जाता है , उसका मन ख़ुशी से भरा हुआ रहता है। वह मानसिक तनाव और थकान को भूल जाता है। घूमने फिरने से लोगो का मन प्रसन्न रहता है।   देश के राज्यों की सैर से कई जगहों के ऐतिहासिक और भूगोलिक स्तर पर जानकारी मिलती है। हर स्थान पर जहां हम घूमने जाते है ,  हम अपनी यादें समेट लेते है।

जब हम देश -विदेश की सैर करते है , तो हमे कई तरह की जानकारी प्राप्त होती है। हमें पुस्तकों के माध्यम से  देश और विदेश के कई लोकप्रिय स्थानों के बारे में पढ़ते है।  लेकिन जब हम खुद इन स्थानों के दर्शन करने जाते है , तो हमे अलग ही अनुभव होता है।  उस जगह से जुड़े बारीक चीज़ो को हम अच्छी तरह से जान और समझ पाते है।  वहाँ पर रहने वाले लोगो के रहन सहन को करीब से जान पाते है। यही सब कारण है जिसने पर्यटन के महत्व को बढ़ा दिया है। हमे विदेशो के सभ्यता और संस्कृति के विषय में अनगिनत जानकारी मिलती है। यह सब तभी संभव होता है , जब लोग वहाँ घूमने जाते है।

जो व्यक्ति देश या विदेश में अधिक यात्रा करता है , उसका ज्ञान भी बढ़ता है। उसका अनुभव पुस्तकीय ज्ञान से अधिक होता है। प्राचीन समय में जब सभ्यता का नामोनिशान ना था , तब आदिमानव भी एक जगह टिक कर नहीं रहते थे।  वह यहां वहाँ घूमते थे और ऐसे ही उन्होंने कई आविष्कार किये। आज यातायात की सुविधाओं में विकास हुआ है।  हम बस , कार , हवाई जहाज , रेलगाड़ी इत्यादि की सहायता से कम समय में गंतव्य स्थान तक पहुँच जाते है।

वातानुकूलित यंत्रो के आविष्कार के बाद मनुष्य को यात्रा के वक़्त कोई परेशानी नहीं होती है।मनुष्य के मनोरंजन और ज्ञानवृद्धि के लिए घूमना फिरना ज़रूरी है। इससे हमारे मन में मौजूद अन्धविश्वाश और शंका दूर हो जाती है। हम विभिन्न लोगो को जान पाते है और नए जगह से वाकिफ होते है। जब हम  दुनिया के अलग अलग देशो का भ्रमण करते है , तो यह पूरी दुनिया जैसे अपनी सी लगती है।  अपने परिवार और मित्रो के साथ विभिन्न जगहों की यात्रा करते है और उस जगह से संबंधित विषयो की चर्चा करते है।  वहाँ के लोगो की संस्कृति को जानकर  जिज्ञासा और अधिक  बढ़ जाती है।

आजकल के समय में पर्यटन एक बहुत बड़ा व्यवसाय बन गया है।  आजकल देश के कई राज्यों में लोगो को  भ्रमण करवाने   के लिए पर्यटन ऑफिस खुल गए है। वहाँ रेल या हवाई जहाज की टिकट से लेकर लोगो को निर्धारित  जगह  के दर्शन और सैर कराने से लेकर,  होटल  बुकिंग इत्यादि व्यवस्था पर्यटन ऑफिस करते है।  पर्यटक को घूमकर आनंद मिलता है और वहीं बहुत लोगो को इससे रोजगार प्राप्त होता है।

देश के कई राज्यों में जहां प्रकृति के खूबसूरत नज़ारे और पर्वत है , वहां ज़्यादातर पर्यटन व्यवसाय यानी टूरिज्म दफतरो  ने अपनी जगह बना ली है।  पर्यटन उद्योग का कारोबार बेहद अच्छा चल रहा है।  पर्यटक को उनके मुताबिक आरामदायक यात्रा प्रदान करवाने  के लिए उन्हें (पर्यटन दफ्तरों , दुकानों इत्यादि ) काफी पैसे मिलते है। पर्यटक के कारण ही यह पर्यटन स्थल विकसित होते है। जितने अधिक पर्यटक होंगे , पर्यटन स्थलों का महत्व उतना अधिक बढ़ जाता है।

पर्यटन कई तरह के होते है। कुछ स्थान पर्वतों के लिए प्रसिद्ध होते है , तो कुछ स्थान अपने कभी ना खत्म होने वाले समुन्दर के लिए , कुछ अपने वनो के लिए।  कुछ स्थान ऐसे भी जो धार्मिक विशेषता से परिपूर्ण होते है , ऐसे स्थान अपने तीर्थ यात्रा के लिए मशहूर होते है , जैसे हरिद्वार , केदारनाथ , बदरीनाथ इत्यादि |

कुछ स्थल जैसे लाल किला , विक्टोरिया मेमोरियल , ताज महल इत्यादि अनगिनत स्थल है जिनका अपना ऐतिहासिक महत्व है। सभी स्थलों के विभिन्न महत्व है और लोग अपनी रूचि के अनुसार वहाँ  भ्रमण करने जाते है।  पर्यटन से अनिगिनत फायदे है।  विदेशो से कई लोग हमारे देश की सुंदरता को निहारने आते है।  इससे पर्यटन व्यवसाय का बहुत लाभ होता है।

पर्यटन व्यापार से हमारे  देश को विदेशी मुद्रा प्राप्त होते है जो कि देश के लिए बेहद फायदेमंद है। हर वर्ष विदेशो से कई लोग हमारे देश की खूबसूरती को देखने आते है।  वह कई होटलो में रहते है और कई दुकानों से खरीदारी करते है।  इससे राज्यों के पर्यटन व्यवसाय को काफी लाभ पहुँचता है। 2010  के पश्चात भारतीय पर्यटन उद्योग का बहुत फायदा हुआ है। लोग पर्यटन स्थलों पर जाकर फोटोग्राफी और वीडियो करते है।  लोग जिस भी जगह घूमने जाते है , वह कैमरे में उस स्थान से जुड़े पलो को कैद कर लेते है।

निष्कर्ष

पर्यटन के वजह से हमे कई संस्कृतियों के बारे में जानने को मिलता है।  यात्रा के समय कई स्थानीय लोगो के संग रूबरू होने के मौका मिलता है। पर्यटन के कारण लोगो में हिम्मत , रोमांच और मनोरंजन का संचार होता है।  लोग ख़ुशी के संग हर स्थल को जानते है और उनके विषय में ज्ञान अर्जित करते है।  इसलिए पर्यटन का अपना विशेष महत्व है।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment