⚠ Recovered from COVID ?
❤️ Help us save Lives. DONATE PLASMA NOW . https://covidassist.online/

संगीत पर निबंध

संगीत पर निबंध |
Sangeet par Nibandh in Hindi |
Essay on Music In Hindi .

प्रस्तावना: संगीत सुनना हमारे देश में सभी लोगो को पसंद है। संगीत को लोग इतना अधिक पसंद करते है कि कोई भी जश्न या उत्सव हो उसमे संगीत ज़रूर बजाते    है।  व्यस्त जीवन के थकावट और तनाव को दूर करने के लिए संगीत से बेहतर और कोई माध्यम हो ही नहीं सकता है।  विज्ञान ने आज बहुत तरक्की कर ली है। यही वजह है कि संगीत को हम घर , गाड़ी , उत्सव , पिकनिक या कहीं पर भी सुन सकते है।  मोबाइल सभी के पास है और वह संगीत का आनंद लेना कभी नहीं भूलते है।  संगीत सुनने से  अलग किस्म की ऊर्जा प्राप्त होती है। लोग टेलीविज़न , रेडियो , मोबाइल और म्यूजिक प्लेयर की मदद से गाने सुनते है।

जो लोग बस या रिक्शा चलाते  है , वह हमेशा गाड़ी में रेडियो सुनते रहते है। इससे उन्हें काम करने की अलग ही ऊर्जा प्राप्त होती है।  हमारे देश में लोग कई तरह के संगीत सुनते है जैसे क्लासिकल , रीजनल , हिंदी बॉलीवुड गीत , भजन इत्यादि।  सभी गानो  का अपना अलग रस होता है और जो गाना सुनते है वे उसकी तरफ मंत्रमुग्ध हो जाते है।

बॉलीवुड में जैसा कि हम सब जानते है संगीत का बहुत बड़ा व्यापार है। यहां संगीतकार , गायक , गायिका सभी मशहूर है और आम जनता उन्हें काफी पसंद करती है। हमारे देश में बहुत से बच्चे संगीत की तालीम बचपन से लेते है ताकि एक अच्छे गायक बन सके। हमारे देश के मशहूर बॉलीवुड गायक और गायिका जिनके गाये हुए गाने कभी पुराने नहीं होते है। बॉलीवुड के पुराने गानो को लोग आज भी बड़े मन से सुनते है।  इससे उन्हें सुकून मिलता है।

देश के लोकप्रिय बॉलीवुड गायक और गायिका , संगीतकार आज के दौर में करोड़ो रूपए कमाते है। आजकल माता पिता अपने बच्चो को पढ़ाई के अलावा संगीत सीखने के स्कूल में भी भर्ती करवा देते है ताकि वे अपने सपनो को पूरा कर सके।  मनोरंजन के लिए आम तौर पर  हर  इंसान संगीत सुनता है। जैसे ही रविवार आता है , सुबह से ही लोगो के घरो से सदाबहार  गानो की आवाजें आती है।

संगीत सिर्फ मन को शान्ति और सुकून ही नहीं पहुंचाता बल्कि भविष्य में एक अच्छा करियर बनाने का रास्ता भी प्रदान करता है।  भारत में अनेक भाषाएं बोली जाती है। अनेक भाषाओ में गीतों का निर्माण भी होता है।  अच्छा संगीत सभी के मन को मोह लेता है।  गाना गाना और सुनना सभी लोगो को पसंद है।  जब भी किसी व्यक्ति का मन पसंद गाना बजता है तो वह गाना अक्सर गुनगुनाने लगता है।  बर्थडे पार्टी हो या त्यौहार या विवाह हर महफ़िल, जैसे  संगीत के बिना अधूरा है।  हर मौके और उत्सव पर लोग उसी के मुताबिक गीत लगाते और सुनते  है।

अगर पूजा का माहौल है तो भजन, अगर कोई जन्मदिन का मौका है तो लोग मस्ती भरे गाने सुनते है। संगीत सीखने में बहुत परिश्रम की आवश्यकता होती है। इसे सीखने में शिक्षक या शिक्षिका जी से सुर ताल सब कुछ सीखना पड़ता है। एक बार अगर कोई संगीत क्षेत्र में नाम बना ले तो वह कभी पीछे मुड़कर नहीं देखते है।

बॉलीवुड इंडस्ट्री और भारत में शानदार म्यूजिक कंपनियां मौजूद है जो गायक और गायिकाओं को गाने का मौका देते है।  एक बार लोकप्रिय हो गए तो लाखो लोग उनके फैन बन जाते है।  आजकल टीवी पर कई रियलिटी शोज आते है जो नए प्रतिभाओ को गाने का मौका देते है।  इससे नए लोगो को अपना हुनर दिखाने का मौका मिलता है और वह कुछ महीनो में लोकप्रिय बन जाते है।  हमारे देश के कोने कोने से नए लोग रियलिटी  शोज में भाग लेने और गाने का सपना देखते है।

संगीत कई गायको को रोजगार करने का मौका देते है। इससे उन्हें नाम और शौहरत मिलती है। आमतौर पर विद्यार्थी हैडफ़ोन लगाकर संगीत सुनते है और पढ़ते भी है।  इससे मन को सुकून मिलता है। किसी प्रकार की पूजा अर्चना में संगीत का अपना अलग महत्व है।  मंदिरो और कई धार्मिक स्थानों में भक्ति गीत बजाये जाते है।

संगीत सीखाकर व्यक्ति  विद्यालय  में संगीत शिक्षक की नौकरी प्राप्त कर सकता  है। इसके लिए संगीत के बारे में डिग्री होने के साथ साथ विशेष ज्ञान होना भी ज़रूरी है। हमारे देश में जब भी विवाह का उत्सव होता है वहाँ गाने ज़रूर बजाये जाते है।  गानो के बैगर शादी का जश्न फीका है।  जब दूल्हे की बारात शादी के मंडप तक पहुँचती है तब भी संगीत , ढोल , बैंड बाजे के साथ उसका स्वागत किया जाता है।

यह अवसर बहुत खुशियों भरा होता है। शादी में जो मेहमान और रिश्तेदार आते है वह भी गानो का आनंद उठाते है। किसी प्रकार के समारोह में गानो का अपना महत्व है। चाहे जन्मदिन हो या कॉलेज , विद्यालय में आयोजित किया गया समारोह, गानो के बिना फीका होता है।  गानो का मीठा रस सभी जश्न और उत्सवों में घुल जाता है। चारो तरफ  माहौल खुशाली भरा हो जाता है।

सभी लोगो को खुशियों के इस  वातावरण में संगीत सुनना अच्छा लगता है। भगवान् श्रीकृष्ण को भी बांसुरी बजाना बहुत अच्छा लगता था।  उनके पास हमेशा बांसुरी होती थी।  उनकी मधुर ध्वनि को सुनकर सभी  गोपियाँ उनकी तरफ खींची चली आती थी।

मरीजों का संगीत सुनना भी बहुत अच्छा माना जाता है।  उन्हें जीवन जीने की नयी प्रेरणा मिलती है। जीवन में उत्साह भर जाता है।

निष्कर्ष

जब भी मन उदास होता है , लोग संगीत सुनते है। संगीत सुनने से नींद बढ़िया आती है।   इससे मन और शरीर दोनों  स्वस्थ रहता है। लोग व्यायाम करते समय भी संगीत सुनते है। इससे अलग किस्म की ऊर्जा प्राप्त होती है। संगीत सुनने से हम दिन भर के थकान और तनाव को मिटा सकते है। मन में बसी परेशानी दूर  होती है और अच्छे , सकारात्मक विचार हमारे मन में उतपन्न  होते  है।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment