प्रधान-मंत्री कौशल विकास योजना

कौशल विकास योजना पर निबंध
Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana

प्रस्तावना: 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता में आते ही भारत के विकास के लिए अनेक कार्यक्रम शुरू किए गए जैसे डिजिटल इंडिया, मेक इन इंडिया, आदि। इन कार्यक्रमों के बाद मोदी सरकार ने एक योजना और बनाई जिसका नाम कौशल विकास योजना रखा गया। भारत सरकार की स्किल इंडिया को नई दिल्ली में राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन के नाम से शुरू कर दिया गया है। इस योजना का मुख्य लक्ष्य देश के लोगों को अलग-अलग क्षेत्रों में प्रशिक्षण देकर उसकी कार्य क्षमता को बढ़ावा देना है। और इस ट्रेनिंग से अधिक से अधिक युवा रोजगार का सृजन कर रहे हैं।

कौशल विकास योजना का लक्ष्य: इस योजना का लक्ष्य भारत में तकनीकी शिक्षण प्रक्रिया में सुधार लाकर उसे विश्व मांग के अनुरूप ढालना है। इस योजना की घोषणा के समय पीएम मोदी ने भाषण देते हुए कहा था कि भारत में परंपरागत शिक्षण पाठ्यक्रम प्रचलन से जिससे कि हम विश्व में तेजी से हो रहे परिवर्तनों के साथ अपने आप को गतिशील नहीं बना पाए हैं। ओर आज भी बेरोजगार है। इसके लिए आवश्यक है, कि हम अपने पाठ्यक्रम में विश्व मांग के अनुसार बदलाव लाये, आने वाले दशकों में किस तरह के कौशल की मांग सबसे अधिक की जाएंगी। उसका अध्ययन करके अपने देश मे उस अध्ययन का निष्कर्ष के अनुसार यदि युवाओं को प्रशिक्षित करेंगे तो भारत के युवाओं को रोजगार के सबसे अधिक अवसर मिलेंगे। इस तरह कौशल विकास योजना भारत देश के लिए एक आंदोलन ना होकर एक कार्यक्रम है।

कौशल विकास योजना के लाभ:

(1) उत्पादकता में व्रद्(2) भारत मे गरीबी खत्म करने में सहायक
(3) भारत मे बड़ी हुई योग्यता को बढ़ावा देना(4) राष्ट्रीय आय के साथ-साथ प्रति व्यक्ति आय में व्रद्धि
(5) लोगो की जीवन निर्वाह आय में व्रद्धि(6) भारतीयों की जीवन स्तर में सुधार

कौशल विकास योजना के मुख्य तथ्य: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के शब्दों में..

कौशल विकास योजना केवल जेब में रुपए भरना है ऐसा नहीं बल्कि गरीबों के जीवन को आत्मविश्वास से भरना है इस प्रकार इसके मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित हैं:-

(1) गरीबी के कारण जो बच्चों उच्च शिक्षा प्राप्त करने से वंचित रह जाते हैं उनके अंदर छिपे कौशल को विकसित करना है।

(2) योजनाबद्ध तरीके से गरीबी और गरीब जवानों को संगठित करके उनके कौशल को सही दिशा में प्रशिक्षित करके गरीबी का उन्मूलन करना।

(3) सभी राज्य और संघ राज्य को संगठित करके आई.आई.टी की कार्यों के माध्यम से दुनिया में स्वयं को स्थापित करना है।

(4) गरीबी को दूर करने के साथ-साथ गरीब लोगों के परिवारों तथा युवाओं में नया सामर्थ भर के आगे बढ़ाने का आत्मविश्वास लाना तथा देश में नई ऊर्जा लाने का प्रयास करना।

(5) भारत के लगभग 65% जनसंख्या जिनकी आयु 35 वर्ष से कम है को वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए कौशल एवं अवसर प्रदान करना ।

कौशल विकास योजना की विशेषता:

(1) इस योजना के तहत कराई जाने वालू सभी तरह की ट्रेनिंग बहुत ही संजिदगी से कराई जाएगी।विभिन्न क्षेत्रों में ट्रेनिंग प्राप्त करने के लिए विभिन्न योग्यताओं की आवश्यकता होंगी अतः किसी भी तकनीकी क्षेत्र में प्रशिक्षण लेने से पहले योग्यता की जांच की जाएगी।

(2) सभी ट्रेनिंग प्रोग्राम का निर्वाहन सेक्टर स्किल कौंसिल यानी एसएससी द्वारा किया जाएगा।इस कौंसिल के अंतर्गत प्रशिक्षित करने वाले सभी लोग एनओएस ओर क्यूपिएस के नियमों का निर्वहन करेंगे।

(3) इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार के विभिन्न योजनाओं में आवश्यक कार्यकर्ताओं को देखते हुए प्रशिक्षण दिया जाएगा।प्रशिक्षण के बाद युवाओं को विभिन्न सरकारी योजनाएं जैसे मेक इन इंडिया योजना, डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट, स्वच्छ भारत अभियान आदि के अंतर्गत नोकरी दी जाएगी।

(4) एक बार प्रशिक्षण खत्म हो जाने पर प्रशिक्षित युवाओं को रु.8000 ओर कोर्स कम्पलीट सर्टिफिकेट दिया जाएगा।ये
सर्टिफिकेट सभी जगहों पर मेनी होगा,किंतु इसे प्राप्त करने के लिए प्रशिक्षण के अंत मे लिए जाने वाले परीक्षा में उत्तीण होना होगा।

(5) इस योजना की एक विशेष बात यह है कि इस योजना का ब्रांड एंबेसडर सचिन तेंदुलकर है।सचिन तेंदुलकर भारतीय युवाओं के लिए महान क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर को चुना गया है।

उपसंहार: भारत के लिए सबसे पहले अगर कोई प्राथमिकता है। तो देश के नौजवानों के लिए रोजगार उपलब्ध कराना है। रोजगार के योग्य नौजवानों को तैयार करना है। रोजगार के योग्य नौजवानों को तैयार करने के लिए पूरा एक mechanism एक व्यवस्था एक structure तैयार करना इस mission के द्वारा उन सभी आवश्यकता की पूर्ति करने का प्रयास करना भारत विश्व के लिए कुशल कार्य बल उपलब्ध कराने वाला विश्व का सबसे बड़ा देश बन सकता है ऐसा करने के लिए भारत में बल्कि पूरे विश्व में मानव शक्ति की जरूरतों का पता लगाने की आवश्यकता है।

#सम्बंधित : Hindi Essay, Hindi paragraph, हिंदी निबंध।

Leave a comment