मेरा प्यारा देश भारत पर निबंध

4.3/5 - (18 votes)

मेरा प्यारा देश भारत पर निबंध व लेख

हमे अपना देश प्राणो से भी प्यारा है। यहां की सभ्यता और संस्कृति विश्व भर में प्रसिद्ध है।  भारत ने कई वर्षो की गुलामी सहन की है।  पराधीनता के बेड़ियों को  देशवासियों और सच्चे देशभक्तो  ने काटकर अपने भारत माँ को आजाद किया था । अंग्रेज़ो की गुलामी की बेड़ियों से हमारा देश पंद्रह अगस्त १९४७ को आजाद हुआ था। भारत में विविध धर्म , जाति और विभिन्न भाषाएं बोलने वाले लोग निवास करते है।  भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है। स्वतंत्रता के पश्चात जो संविधान लागू किया गया है उसमे सभी धर्मो को एक समान मान्यता दी गयी है। यहां के लोगो की अलग- अलग बोलियां है और सब अलग पोशाक भी पहनते है। यहां लोग ईद , दिवाली , होली इत्यादि त्यौहार मनाते है।  विविधताओं के बावजूद हमारा देश एक सूत्र में बंधा हुआ है। हमारा देश  अनेकता में भी एकता का सन्देश देते है।  भारत को हिन्दुस्तान और इंडिया भी कहा जाता है।

देश को स्वतंत्र कराने के लिए क्रांतिकारियों ने कई बलिदान दिए और अनगिनत लोगो ने अपने प्राणो की आहुति दी।  तब भारत माँ को दुश्मनो के जाल से छुड़ा पाए। भारत एशिया महाद्वीप में स्थित है।  देश की राजधानी का नाम दिल्ली है। भारत में कुल २९ राज्य और सात केंद्र शासित प्रदेश है। भारत की इस महान भूमि में कई महापुरुषों ने जन्म लिया और  देश के हित के लिए    महान कई कार्य किये।

भारत में अनेको नदियाँ बहती है गंगा , गोदावरी , कृष्णा , कावेरी , सतलुज , रावी , कृष्णा।  इन नदियों के पानी से हमारे देश की मिटटी उपजाऊ  हो जाती है। हमारे देश की खूबसूरती को निहारने के लिए विदेश से पर्यटक यहां आते है। हम अलग-अलग भाषाएं बोलते हैं। हर तीस  किलोमीटर में एक अलग संस्कृति देखने का आनंद प्राप्त होता  है। यहां सभी प्रमुख धर्मों का पालन किया जाता है। राष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्तर पर राजनीतिक दल विविध हैं। इन सभी भिन्नताओं के बावजूद, हम भारतीयता की बात आने  पर एक महसूस करते हैं। इस विविधता के बावजूद भारतीय लोगों में  गर्मजोशी और आतिथ्य का भाव देखना को मिलता है । भारत की यही खूबसूरती है कि इसने विविधता में भी एकता को बनाये रखा है।

कला, कविता , सभी प्रकार के स्मारक, महल, मंदिर, सार्वजनिक कार्य, समुदाय, समाज, धार्मिक आदेश,  और अनुष्ठान, भौतिक विज्ञान, मानसिक विज्ञान, योग की प्रणाली, राजनीति की प्रणाली, प्रशासन और  आध्यात्मिक चिंतन मनन जैसे सभी चीज़ें देश में देखने को मिल जाते  है।

हमारे देश के उत्तर में हिमालय और दक्षिण में हिंदी महासागर स्थित है। हमारे कई पड़ोसी देश है जैसे नेपाल , बांग्लादेश , चीन , वर्मा इत्यादि है। भारत की उपजाऊ भूमि को कई नदियाँ सींचती है। भारत में हर तरह का मौसम महसूस कर सकते है। सर्दी , गर्मी , बरसात ,  सर्दी में बर्फ से ढके पर्वत इत्यादि  सभी ऋतुओं का अनुभव हम कर सकते है।   यहां रेगिस्तान भी है और यहां लहलहाते खेत भी है। हर राज्य में रहने वाले लोग अलग भाषाएं बोलते है और अपने उत्सव मनाते है।

भारत में वास्तुकला और शिल्पकला के अलग ही उदाहरण देखने को मिलते है। भारत के लोगो में सादगी और सरलता होती है।  वह मेहमानो को भगवान् का दर्जा देते है और उनकी सेवा करते है। हमारे देश में परिवार का महत्व , दया से भरी भावनाएं , अतिथियों  और बड़ो का सम्मान , दादी माँ की कहानियां जैसे दिल को छू लेने वाले भावनाओ के दर्शन हो जाते है ।  यह सच्ची भारतीयता की निशानी है।

यहां हमारे देश में मंदिर , मस्जिद , गुरुद्वारा और गिरजाघर, सभी धार्मिक स्थल  मिल जाएंगे। यहां कोई भी व्यक्ति किसी भी धर्म को मान सकता है और अपने विचार दूसरो के समक्ष रख सकता है। यहां विकसित नगर और महानगर है जहां बड़ी बड़ी इमारतें मिल जाएंगे। हमारे देश में संगीत और नृत्य कला का विशेष स्थान है। यहां विभिन्न राज्यों की अपनी विशेष संस्कृति है जो चारो ओर रंग भर देती है।

यहां विभिन्न ऐतिहासिक इमारतें है जैसे ताज महल , क़ुतुब मीनार , अजंता एलोरा की गुफाएं इत्यादि जिनसे हमारे गहन इतिहास और उसकी अद्भुत वास्तुकला का पता चलता है। भारत के दर्शन करके पर्यटकों को बेहद ख़ुशी के साथ ज्ञान भी प्राप्त होता है।

स्वतंत्रता के पश्चात हमारे देश ने कई क्षेत्रों में तरक्की की है, चाहे वह शिक्षा हो , या व्यापार , या उद्योग जगत , शिल्प कौशल इत्यादि।  भारत ने खेल कूद जगत  में भी साबित किया है कि वह किसी से कम नहीं है। विश्व से आने वाले सभी लोग हमारे देश के साहित्य , इतिहास और संस्कृति की तारीफ़ करते है। गाँव की वह प्राकृतिक सुंदरता और ख़ूबसूरती , सबको अपनी ओर आकर्षित कर लेती है। पर्यटक हमारे देश के विषय में और अधिक जानना चाहते है।

निष्कर्ष

हम देशवासियों की सबसे बड़ी संपत्ति हमारा देश है। सबसे सुन्दर और विविध संस्कृति के कारण हमारा देश विश्व भर में प्रसिद्द है। हमें देशवासी के तौर पर अपने देश के प्रति सारे कर्त्तव्य निभाने होंगे ताकि हमारे देश सुरक्षित रहे और सदा उन्नति के राह पर चले। दुनिया का सबसे सुन्दर और सर्वश्रेष्ठ देश हमारा भारत है। हमारा देश हमे अपने जान से भी प्यारा है।

Leave a Comment