अपने आसपास की सफाई पर निबंध

अपने आस-पास सफाई कैसे रखें।  
अपने आसपास की सफाई पर निबंध।

प्रस्तावना:- आसपास के वातावरण साफ सुथरा हो तो किसे अच्छा नहीं लगता है हर जगह हर कोना आस पास का स्वच्छ और साफ हो ऐसी जगह सबको ही भाती है और इसमें नगर निगम और स्वच्छता कर्मी का बहुत बड़ा योगदान रहता है वह तो अपनी तरफ से पूरा योगदान देते हैं परंतु इसके बावजूद कुछ लोग गंदगी और कचरा करने से बाज नहीं आते हैं वह भी इंसान ही है आखिर कितना साफ करेंगे इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को अपने आसपास की साफ रखने की जिम्मेदारी स्वयं लेनी होगी ताकि साफ-सफाई से हम स्वस्थ रहें और हमारा वातावरण भी स्वच्छ रहे।

आसपास की रखो सफाई.
इसमें हम सबकी भलाई.
स्वच्छ रखेंगे वातावरण.
स्वस्थ रहेंगे हम हर पल हर क्षण.

घर के हर दिन करे सफाई:– हमें हमारे घर की हर रोज सफाई करनी चाहिए वहां कचरा इकट्ठा नहीं होने देना चाहिए इससे किटाणु पनपते हैं और बीमारियां फैलती है घर की निम्न जगहों को नियमित रूप से साफ रखना चाहिए.

रसोई घर:– रसोई घर जहां हमारा भोजन इत्यादि बनता है उसकी सफाई नियमित होनी चाहिए बर्तन को अच्छी तरह से साफ रखना चाहिए ,गेस स्टैंड, बर्तन रखने की जगह ,सभी जगह साफ करना चाहिए रोज किचन की झाड़ू लगाना चाहिए साथ ही पोछा भी लगाना चाहिए ताकि खाने के साथ हम कोई गंदगी अपने खाने में नहीं आने दे और साफ-सुथरा भोजन ही खाएं साफ-सुथरा किचन रखें.

पूजा घर:- पूजा घर पूजा घर हम जहां पूजा करते हैं इसकी सफाई रखनी चाहिए नियमित पोछे ओर और धोने जैसे सामान को धोये जहां बैठकर पूजा करते है वह जगह भी पोछना चाहिए कोई कचरा पूजा घर में नहीं होने देना चाहिए इसे हमारा मन भी अच्छा रहता है और पूजा करने में भी हमारा मन लगता है।

सोने का कमरा:- सयनकक्ष जहां हम सोते हैं वहां की चादर बदलते रहे हो सके तो झाड़ू पोछा करें साथ ही वेक्यूम क्लीनर से फर्नीचर साफ रखें.

बाथरूम:- बाथरूम को रोज साफ़ करें दीवारें साफ करें डिटोल इत्यादि का प्रयोग करें ताकि कोई कीटाणु बाथरूम में ना पनपे ।

हमारे गाड़ी रखने की जगह और बगीचा:-  जहां हम हमारी गाड़ी रखते हैं वहां रोज झाड़ू लगाएं और बगीचे में सफाई रखे हो ओर रोज झाड़ू लगाए और कोई भी कचरा और प्रयोग में ना आने वाले सामान को इकट्ठा ना होने दें।

clean-our-surrounding

यदि साफ सफाई नहीं रखेंगे तब

यदि हम हमारे किचन, बाथरूम ओर पूरे घर में साफ सफाई नहीं रखेंगे तो छछूंदर ,काकरोच ,मक्खी ,चीटियां, मच्छर आदि पनपते हैं और साफ सफाई में अगर हम लापरवाही बरते तो बर्तन और अन्य सामानों के साथ ये गंदगी हमारे मुंह में जाती हैं जिससे हमें कई तरह की बीमारियां पकड़ लेती है कि यदि मच्छर पनपते है तो मलेरिया कॉलरा, निमोनिया, पीलिया, यह सब बीमारी होती है जो की गन्दगी की वजह से फैलती है इसलिए हमें हमारे घर और आंगन की सफाई पर नियमित ध्यान देना चाहिए इसलिए पूरे घर पर नियमित झाड़ू और पोछा लगाना चाहिए धूल इत्यादि को पोछना ओर बगीचे में कहीं भी पानी नहीं होने देना चाहिए किसी भी तरह की गन्दगी बीमारी का लक्षण होती है इसलिए इसे बचना चाहिए और नियमित साफ – सफाई करना चाहिए।

अपने आसपास सफाई रखने के लिए सही सोच

कुछ लोगों का सोचना है कि जहां गरीब व्यक्ति रहते हैं वही ज्यादा गंदगी होती है परंतु ऐसा सोचना बिल्कुल गलत है क्योंकि गरीब और साफ-सफाई का दूर-दूर तक कोई मेल नहीं है गरीबी तो इंसान की मजबूरी है परंतु सफाई तो उसकी जिम्मेदारी है इसके लिए अमीर या गरीब मायने नहीं रखता और घर की साफ सफाई में सब की बराबरी से हाथ बटाने की मंशा होनी चाहिए केवल घर के बड़े जिसमें मां होती है मां घर के हर काम को करती है तो क्या ये घर केवल माँ का ही होता है उसमें रहने वाले सभी सदस्यों का नहीं होता इसलिए सभी सदस्यों को मिलजर इसकी जिम्मेदारी उठानी चाहिए और यह सोच परिवार के हर सदस्य के नजरिया पर निर्भर करती है।

बच्चों में भी डाले साफ सफाई की आदत

बचपन में से बच्चों की देखभाल माता-पिता और घर के अन्य सदस्य करते हैं लेकिन बच्चे जब थोड़े बड़े होने लगता है तो उन्हें आपको सिखाना होगा कि साफ सफाई रखना जरूरी है ,बचपन से ही उसे अपनी सफाई की शिक्षा दे साथ ही उसे अपने आसपास की जगह को साफ रखना सिखाएं उसे बताएं कि अगर साफ सफाई नहीं रखी जाएगी तो बीमार होगा और बीमार होगा तो डॉक्टर के पास जाना पड़ेगा इसलिए उसे बताये कि अपनी साफ सफाई रखें ,और अपने आसपास की जगह को भी साफ रखें साफ सफाई में अपने बड़ों की मदद करें इससे वह भी साफ सफाई करना सीखेंगे और स्वस्थ रहेंगे।

साफ सफाई में योगदान

साफ सफाई इंसान की फितरत होती है वह अपने घर के आस पास तो साफ रखता है परंतु कुछ लोग ऐसे होते हैं कि घर ही को अपना समझते हैं और अपने घर के बाहर झूठा और जो भी कचरा होता है उठा कर बाहर फेक देते है क्योंकि वो समझते हैं कि उनकी जिम्मेदारी केवल घर के अंदर तक ही सीमित है इसलिए अपना फर्ज भूल जाते हैं और यह भूल जाते हैं कि सड़क ,अपने घर का बगीचा ,साफ रखना उनकी जिम्मेदारि है सड़क से ही गंदगी हमारे घर तक आती है और इसके साथ ही कई तरह की बीमारियां भी लेकर आती है इसलिए स्वम् साफ सफाई रखे और जो कर्मचारि ओर नगरनिगम की गाड़ियां आती है उसमें अपने घर को साफ रखकर उन्हें अपना पूरा योगदान प्रदान करे ।

उपसंहार
इस प्रकार हमें हमारे घर की और आसपास की सफाई हमारे स्वास्थ्य के साथ ही वातावरण को भी साफ रखती है और इसका प्रथम पाठ हमे हमारे घर से ही मिलता है यदि हम हमारे घर को ओर हमारे आसपास के वातावरण को साफ रखेंगे तो धीरे-धीरे शहर और शहर देश सभी जगह सफाई दिखने लगेगी प्रदूषण में जमा हमारे देश की गिनती निचले स्तर पर की जाती है वही हमें आगे और आगे प्रथम स्थान पर लाना होगा और इसकी शुरुआत हमें हमारे आसपास के वातावरण से शुरू करना होगा।

सम्बंधित: Hindi Essay, हिंदी निबंध। 

3 thoughts on “अपने आसपास की सफाई पर निबंध”

  1. Aap new hmari bahut help ki thank you hamare school me nibandh pratiyogita hone ja rhi hai Aur isme bhagalpur Liya hai aapke nibandh ke jaiye hm apna lekhan likhenge aur hme ummid hai ki hm hi pass hinge Kyo ki aapne bahut accha likha hai thanks a lot

    Reply
  2. धन्यवाद आपका। . आप हमारे पहले कमेंटर है। . हमें अच्छा लगा की हमारा ये प्रयाश सभी तक पहुंच रहा है। युहीं हमें कमेंट के जरिये से हमें उत्साहित करते रहे हम जितना हो सके उतनी म्हणत से और भी लेख को प्रकाशित करेंगे।

    Reply

Leave a comment