लोकतंत्र में वोटिंग का महत्व पर निबंध

लोकतंत्र में वोटिंग का महत्व
Essay on the importance of voting in democracy

भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां देश की संप्रभुता वहां के नागरिकों में निहित है लोकतांत्रिक व्यवस्था में वहां के नागरिकों को अपनी सरकार चुनने का अधिकार होता है जिस कार्य को वह अपने मत देकर पूर्ण करते हैं किसी भी देश को सुव्यवस्थित ढंग से चलाना एवं वहां शासन व्यवस्था सुचारू रूप से चलाने के लिए एक मजबूत सरकार का होना अति आवश्यक है अतः मताधिकार का महत्व किसी भी लोकतांत्रिक व्यवस्था में बहुत है।

यदि कोई भी सरकार अपना कार्य सुचारू रूप से नहीं कर रही है और निरंकुश होती जाती है तो इसी मताधिकार का प्रयोग करके जनता सरकार को बदल सकती है दूसरे शब्दों में हम यह कह सकते हैं कि वर्तमान समय में वोट देने का अधिकार ने महत्वपूर्ण स्थान ले लिया है यदि हम इतिहास को भी देखें तो हम पाते के ऐसा कई बार हुआ है कि वोटिंग के अधिकार ने बड़े-बड़े सत्ता को पलट के रख दिया था।

वर्तमान समय में सोशल नेटवर्क के माध्यम से लोगों को वोट देने के अधिकार से जागरूक किया जा रहा है अब शायद लोगों को अपनी वोटिंग अधिकार का महत्व ज्यादा समझ में आने लगा है आज भी बहुत से लोग वोट देने नहीं जाते हैं उनका मानना है कि हमारे 1 वोट से क्या फर्क पड़ जाएगा परंतु वह यह शायद भूल जाते हैं कि बूंद बूंद से सागर भरता है आजकल चुनाव में अक्सर कई पार्टियां अपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों को भी टिकट देती है फिर चाहे उन पर बलात्कार का मुकदमा हो या हत्या का कभी-कभी ऐसे लोग चुनकर संसद भवन तक पहुंच जाते हैं अब प्रश्न उठता है कि इन्हें जिताने का श्रेय उन लोगों को है जिन लोगों ने वोट दिए या फिर उन लोगों को है जिन लोगों ने वोट नहीं दिए इस पर विचार करने की आवश्यकता है।

एक स्वस्थ लोकतंत्र की इमारत की नींव सिर्फ और सिर्फ मताधिकार है अतः यदि हम चाहते हैं कि इमारत मजबूत हो तो उसकी नींव भी पक्की होनी चाहिए मत देने का अधिकार सभी नागरिकों का मौलिक अधिकार है और उसका सही प्रयोग करना हर नागरिक का कर्तव्य।

मत देने का अधिकार प्राप्त होना शायद हमें यह बोध कराता है कि हम सबकी कहीं ना कहीं देश की प्रगति में भागीदारी है मेरा ऐसा मानना है कि प्रत्येक व्यक्ति को जिसे भी मत देने का अधिकार प्राप्त है उसे वोट देने अवश्य जाना चाहिए क्योंकि यह हमारा अधिकार तो है ही अपितु कर्तव्य भी है अपने देश के प्रति।

जागृति अस्थाना- लेखक

#सम्बंधित : Hindi Essay, Hindi Paragraph, हिंदी निबंध। 

Leave a comment